राष्ट्रीयस्वास्थ्य

देश में अब तक कोरोना के 29 केस हुए कन्फर्म, गुजरात में भी मिला संदिग्ध, चुनौती बना कोरोना से निपटना

नई दिल्ली I कोरोना वायरस अब भारत में भी अपने पैर पसार रहा है. भारत में धीरे-धीरे कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है. बुधवार तक कोरोना के 29 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. वहीं अब गुजरात के सूरत में भी दो संदिग्ध केस सामने आए हैं. जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

चीन के वुहान से फैलना शुरू हुए कोरोना वायरस के भारत में अभी तक कुल 29 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं जिनमें से 3 ठीक हो चुके हैं तो 26 का इलाज जारी है. हालांकि कोरोना वायरस के कारण लोगों में काफी खौफ देखने को मिल रहा है. ऐसे में भारत में इस बार होली के त्योहार को लेकर भी लोग एहतियात बरता जा रहा है.

कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियां सरकार कर रही है. बुधवार सुबह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिलकर बैठक की और तैयारियों का जायजा लिया. केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को ऐलान किया कि अभी तक 15 लैब हैं, जहां पर कोरोना वायरस की जांच की जा रही है, अब सरकार की ओर से 19 लैब और बनाई जाएंगी.

केंद्र सरकार का कहना है कि वायरस से डरने की जरूरत नहीं है. वहीं गृह मंत्रालय के तहत आने वाले सभी लैंडपोर्ट में पड़ोसी देशों से आने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग के लिए मेडिकल टीमें लगाई गई हैं.

कहां-कहां से आए मामले?

अभी तक केरल से तीन केस आए थे, जो कि ठीक हो चुके हैं. इसके बाद दिल्ली में एक केस आया, जिसकी वजह से उसके 6 जान-पहचान के लोग भी चपेट में आ गए. तेलंगाना में एक केस आया है. इटली से आए कुल 17 लोग भी कोरोना वायरस से ग्रस्त पाए गए. जिनमें से एक भारतीय और 16 इटली के नागरिक हैं. वहीं एक ताजा मामला गुरुग्राम से सामने आया है. ऐसे में अब भारत में 26 लोग अभी भी इस वायरस की चपेट में हैं.

भारत आने वाले हर नागरिक की जांच

कोरोना वायरस को लेकर केंद्रीय मंत्री स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि अब भारत आने वाले सभी विदेशी नागरिकों की जांच की जाएगी. पहले सिर्फ 12 देशों के लोगों की जांच की जा रही थी.

वैक्सीन आने में लगेगा एक साल

वहीं बातचीत करते हुए दुनिया के जाने मानें वायरोलॉजिस्ट डॉ. इयान लिपकिन ने बताया कि इस वायरस का टीका (वैक्सीन) आने में एक साल का वक्त लग सकता है. साथ ही लिपकिन ने सलाह दी है कि जो लोग इस वायरस की चपेट में आने के बाद ठीक हो चुके हैं, उन्हें प्लाज्मा बैंकों को प्लाज्मा प्रदान करना चाहिए क्योंकि यह कोरोनो वायरस के इलाज में प्रभावी है.

दिल्ली मेट्रो ने जारी की गाइडलाइन्स

दिल्ली-एनसीआर में कोरोना वायरस के कुछ मामलों की पहचान होने के बाद दिल्ली मेट्रो ने जागरूकता फैलाने और कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कुछ उपाय करने का फैसला किया है. इन उपायों के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो के कर्मचारियों को इसके बारे में अवगत कराया गया है. वहीं कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ‘क्या करें’ और ‘क्या न करें’ के बारे में दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं.

इस बार की होली होगी फीकी?

इस बार कोरोना वायरस के डर से रंगों के त्योहार होली पर हर्बल और ऑर्गेनिक कलर की डिमांड लगभग डबल हो गई है. जहां पहले 100 में से 50 लोग हर्बल और ऑर्गेनिक कलर मांगते थे, उनकी संख्या अब बढ़कर 80 हो गई है. वहीं राजस्थान पर्यटन विभाग ने सरकार के होली महोत्सव को कैंसल कर दिया है. राज्य के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने जानकारी दी कि इस बार टूरिज्म विभाग होली फेस्टिवल नहीं कराएगा. साथ ही बाकी के होटलों को भी सूचित किया है कि इस तरह के आयोजन नहीं करें, जिसमें विदेशी टूरिस्ट शामिल हों.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close